खुदा हम आप से फरियाद करते है
ये जो आदतें हैं कुछ अध्यापकों की
वे हमें इसी से परेशान करते हैं
ये अपना सारा काम बच्चों से करवाते हैं
और पीरियडों में कैंटीन में जाके चाय बिस्किट खाते हैं
बच्चों से किसी किसी बहाने पैसे निकलवाते हैं
लिस्ट गुम हो जाए तो दोबारा पैसा जमा करवाते हैं
यहाँ तक की कैंटीन का काम भी बच्चों से ही करवाते हैं
बच्चों से कोंपी चैक करवाके
मार्क स्लिप के नम्बर भी उन्ही से चढ़वाते हैं
बहाना अपने व्यस्त होने का बनाते हैं
इसी तरह बच्चों के कीमती समय को बरबाद करते हैं
मगर ध्यान रहे !!
इस बात को हम सभी अध्यापकों पर लागू नही करते हैं
यह काम तो भ्रष्टाचारी ही करके आबाद रहते हैं
कसम से सच कहते हैं ....
अध्यापक तो बच्चों के लिए वरदान हैं
सभी करते उनका सम्मान हैं
खुदा ,बस इतनी सी है दुआ
सुधार अध्यापको की उन आदतों को
जिनसे कईयों के भविष्य बरबाद हुआ

ai khudaa ham aap se phariyaad karate hai
ye jo aadaten hain kuchh adhyaapakon kii
ve hamen isii se pareshaan karate hain
ye apanaa saaraa kaam bachchon se karavaate hain
aur piiriyadon men kaintiin men jaake chaay biskit khaate hain
bachchon se kisii kisii bahaane paise nikalavaate hain
list gum ho jaaye to dobaaraa paisaa jamaa karavaate hain
yahaan tak kii kaintiin kaa kaam bhii bachchon se hii karavaate hain
bachchon se konpii chaik karavaake
maark slip ke nambar bhii unhii se chadvaate hain
bahaanaa apane vyast hone kaa banaate hain
isii tarah bachchon ke kiimatii samay ko barabaad karate hain
magar dhyaan rahe !!
is baat ko ham sabhii adhyaapakon par laagoo nahii karate hain
yah kaam to bhrashtaachaarii hii karake aabaad rahate hain
kasam se sach kahate hain ....
adhyaapak to bachchon ke liye varadaan hain
sabhii karate unakaa sammaan hain
ai khudaa ,bas itanii sii hai duaa
sudhaar adhyaapako kii un aadaton ko
jinase kaeeyon ke bhavishy barabaad huaa


This entry was posted on 9:16 AM and is filed under . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0 feed. You can leave a response, or trackback from your own site.