सब नाम आपके रख डाले महबूब ख्यालों में
लब भी हिला सके आपसे मुखातिब जो हुए

sab naam aapake rakh daale mahaboob khyaalon men
lab bhii hilaa n sake aapase mukhaatib jo huye


Links to this post
जब बोलते हैं आप, तो लगते हैं
जैसे झड़ रहे हो अम्बर के तारे
जब हँसते है आप, तो लगते हैं
अध् खिली कलियों सी प्यारे
जब चलते हैं आप, तो लगते हैं
जैसे आई हो पतझड़ में बहारें
हब लहराते हैं आपके बाल, तो लगते हैं
जैसे सावन के घटा सारे
जब आप आती हैं पास हमारे
पुरे हो जाते है दिल के अरमान सारे
आप कैसी लगती है ? लगती हैं
जैसे उतर आई हो रति धरती पर हमारे

jab bolate hain aap, to lagate hain
jaise jhad rahe ho ambar ke taare
jab hansate hai aap, to lagate hain
adh khilii kaliyon sii pyaare
jab chalate hain aap, to lagate hain
jaise aaee ho patajhad men bahaaren
hab laharaate hain aapake baal, to lagate hain
jaise saavan ke ghataa saare
jab aap aatii hain paas hamaare
pure ho jaate hai dil ke aramaan saare
aap kaisii lagatii hai ? lagatii hain
jaise utar aaee ho rati dharatii par hamaare


Links to this post
जब कोई हमारा होगा, हम उसके हो जायेंगें
हँसेगें साथ साथ, दुःख को भूल जायेंगें
जिन्दगी का सफर हम साथ में बितायेंगें
ज़माना क्या रोकेगा हमें
हम इन बन्धनों को पीछें छोड़ जायेंगें
दूर कही हम अपना एक घर बसायेंगें
उसे स्वर्ग से भी ज्यादा खुशहाल बनायेंगें
उस छोटे स्वर्ग में प्यार ही प्यार लुटायेंगें
वो हमें चाहेंगें और हम उन्हें दिल में ब्सायेंगें
जियेंगें एक दूजे के लिए
एक दूजे के लिए मर जायेंगें
अपने इस प्रेम से ईश्वर को पा जायेंगें
जब कोई हमारा होगा, हम उसके हो जायेंगें


jab koee hamaaraa hogaa, ham usake ho jaayengen
hansegen saath saath, duhakh ko bhool jaayengen
jindagii kaa saphar ham saath men bitaayengen
zamaanaa kyaa rokegaa hamen
ham in bandhanon ko piichhen chhod jaayengen
door kahii ham apanaa yek ghar basaayengen
use svarg se bhii jyaadaa khushahaal banaayengen
us chhote svarg men pyaar hii pyaar lutayengen
vo hamen chaahengen aur ham unhen dil men bsaayengen
jiyengen yek dooje ke liye
yek dooje ke liye mar jaayengen
apane is prem se eeshvar ko paa jaayengen
jab koee hamaaraa hogaa, ham usake ho jaayengen


Links to this post
खुदा हम आप से फरियाद करते है
ये जो आदतें हैं कुछ अध्यापकों की
वे हमें इसी से परेशान करते हैं
ये अपना सारा काम बच्चों से करवाते हैं
और पीरियडों में कैंटीन में जाके चाय बिस्किट खाते हैं
बच्चों से किसी किसी बहाने पैसे निकलवाते हैं
लिस्ट गुम हो जाए तो दोबारा पैसा जमा करवाते हैं
यहाँ तक की कैंटीन का काम भी बच्चों से ही करवाते हैं
बच्चों से कोंपी चैक करवाके
मार्क स्लिप के नम्बर भी उन्ही से चढ़वाते हैं
बहाना अपने व्यस्त होने का बनाते हैं
इसी तरह बच्चों के कीमती समय को बरबाद करते हैं
मगर ध्यान रहे !!
इस बात को हम सभी अध्यापकों पर लागू नही करते हैं
यह काम तो भ्रष्टाचारी ही करके आबाद रहते हैं
कसम से सच कहते हैं ....
अध्यापक तो बच्चों के लिए वरदान हैं
सभी करते उनका सम्मान हैं
खुदा ,बस इतनी सी है दुआ
सुधार अध्यापको की उन आदतों को
जिनसे कईयों के भविष्य बरबाद हुआ

ai khudaa ham aap se phariyaad karate hai
ye jo aadaten hain kuchh adhyaapakon kii
ve hamen isii se pareshaan karate hain
ye apanaa saaraa kaam bachchon se karavaate hain
aur piiriyadon men kaintiin men jaake chaay biskit khaate hain
bachchon se kisii kisii bahaane paise nikalavaate hain
list gum ho jaaye to dobaaraa paisaa jamaa karavaate hain
yahaan tak kii kaintiin kaa kaam bhii bachchon se hii karavaate hain
bachchon se konpii chaik karavaake
maark slip ke nambar bhii unhii se chadvaate hain
bahaanaa apane vyast hone kaa banaate hain
isii tarah bachchon ke kiimatii samay ko barabaad karate hain
magar dhyaan rahe !!
is baat ko ham sabhii adhyaapakon par laagoo nahii karate hain
yah kaam to bhrashtaachaarii hii karake aabaad rahate hain
kasam se sach kahate hain ....
adhyaapak to bachchon ke liye varadaan hain
sabhii karate unakaa sammaan hain
ai khudaa ,bas itanii sii hai duaa
sudhaar adhyaapako kii un aadaton ko
jinase kaeeyon ke bhavishy barabaad huaa


Links to this post


हिरनी सी चंचल हो तुम
कली सी कोमल हो तुम
कुछ मीठी, कुछ नमकीन हो तुम
हसीना, परियो से हसीं हो तुम
मै राही और मेरी मंज़िल हो तुम
होली में रंग क्या लगाओगी
गोरी रंगों से रंगीन हो तुम
मेरे ख़्वाबों में आने वाली
ख़्वाबों की रानी हो तुम
जो भी हो, बहुत खूब हो तुम
मेरे महबूब हो तुम....
मेरे महबूब हो तुम |


hiranii sii chanchal ho tum
kalii sii komal ho tum
kuchh miithii, kuchh namakiin ho tum
ye hasiinaa, pariyo se hasiin ho tum
mai raahii aur merii manzil ho tum
holii men rang kyaa lagaaogii
gorii rangon se rangiin ho tum
mere kvaabon men aane vaalii
kvaabon kii raanii ho tum
jo bhii ho, bahut khoob ho tum
mere mahaboob ho tum....
mere mahaboob ho tum |


Links to this post
मासूमियत होती, जो उनके शवाब में

मुस्कुराते वो जनाब, तो हम इश्क करते

वो आँखें क्या थी, मयखाना थी

छलकता जो शराब, तो हम इश्क न करते

यकीं मानिये हमारा, सच कहते है हम जनाब

वो आँखें देती नही जवाब, तो हम इश्क न करते

अदा और भी है कई, हसीनाओं की भीड़ में

पर था वो हुस्न बेपनाह, तो हम इश्क न करते

मिलेगी हमें बेवफाई जो जानते , इश्क की राह में

तो करते कुछ और जनाब, हम इश्क न करते

ishk n karate

maasoomiyat n hotii, jo unake shavaab men

muskuraate n vo janaab, to ham ishk n karate

vo aankhen kyaa thii, mayakhaanaa thii

chhalakataa n jo sharaab, to ham ishk n karate

yakiin maaniye hamaaraa, sach kahate hai ham janaab

vo aankhen detii nahii javaab, to ham ishk n karate

adaa aur bhii hai kaee, hasiinaaon kii bhiid men

par thaa vo husn bepanaah, to ham ishk n karate

milegii hamen bevaphaaee jo jaanate , ishk kii raah men

to karate kuchh aur janaab, ham ishk n karate




Links to this post
हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन
महके डाली, महके चमन
महक उठे सारा वतन
हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन

भूखा कोई इंसान हो
क़र्ज़ से दबा किसान हो
डोल जाए ऐसा ईमान हो
माँ बाप की सेवा अहसान हो
घर पे आया लौटे खाली
ऐसा मेरा हिन्दुस्तान हो
हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन

बाल मजदूरी का कोई स्थान हो
भ्रूण हत्या का कहीं नाम हो
लड़का लड़की असमान हो
लड़की को पढाना अहसान हो
किसी के भविष्य से करे खिलवाड़
ऐसा मेरा हिन्दुस्तान हो
हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन

राष्ट्रध्वज, राष्ट्रगीत और राष्ट्रभाषा का सम्मान हो
गीता, बाईबल और कुरान का सम्मान हो
हर तबके, हर मज़हब से जुड़े इन्सान का हो
हर देश की सभ्यता और संस्कृति का सम्मान हो
फैशन के नाम पर फूहड़पन दिखे
ऐसा मेरा हिन्दुस्तान हो
हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन

हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन
महके डाली, महके चमन
महक उठे सारा वतन
हमवतन हमवतन
मिलकर करे कोई जतन

ai hamavatan ai hamavatan


ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan
mahake daalii, mahake chaman
mahak uthe saaraa vatan
ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan

bhookhaa koee insaan n ho
krj se dabaa kisaan n ho
dol jaaye aisaa eemaan n ho
maan baap kii sevaa ahasaan n ho
ghar pe aayaa loute khaalii
aisaa meraa hindustaan n ho
ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan

baal majadoorii kaa koee sthaan n ho
bhroon hatyaa kaa kahiin naam n ho
ladkaa ladkii asamaan n ho
ladkii ko padaanaa ahasaan n ho
kisii ke bhavishy se kare khilavaad
aisaa meraa hindustaan n ho
ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan

raashtradhvaj, raashtragiit aur raashtrabhaashaa kaa sammaan ho
giitaa, baaeebal aur kuraan kaa sammaan ho
har tabake, har majhab se jude insaan kaa ho
har desh kii sabhyataa aur sanskriti kaa sammaan ho
phaishan ke naam par phoohadpan dikhe
aisaa meraa hindustaan n ho
ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan

ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan
mahake daalii, mahake chaman
mahak uthe saaraa vatan
ai hamavatan ai hamavatan
milakar kare koee jatan


Links to this post
रूठना मानना, बस किसी के हो जाना
चार दिन की जिंदगी, हाँ हँस के बिताना
थोरा प्यार जो वो दिखाए,
तुम दिल खोल के प्यार बरसना
तुम प्यार का बादल बन जाना

कभी ढूंढे वो बहने प्यार के
कभी तुम कोई बहाना बनाना
कभी तुम्हें बाहों में भर ले
कभी तुम उनके बाँहों में समां जाना
तुम प्यार का झोंका बन जाना

पलके जो उठें कभीं उनकी,
तुम आखों में समां जाना
सको सिकवा हो कही
वफ़ा से घर महकाना
गुलदस्ता के रंग सभी
अपनी अदाओ में सजाना
बनना सवरना उनके लिए
उनके दिल में बस जाना
तुम प्यार का खुदा बन जाना

n roothanaa maananaa, bas kisii ke ho jaanaa
chaar din kii jindagii, haan hans ke bitaanaa
thoraa pyaar jo vo dikhaaye,
tum dil khol ke pyaar barasanaa
tum pyaar kaa baadal ban jaanaa

kabhii doonde vo bahane pyaar ke
kabhii tum koee bahaanaa banaanaa
kabhii tumhen baahon men bhar le
kabhii tum unake baanhon men samaan jaanaa
tum pyaar kaa jhonkaa ban jaanaa

palake jo uthen kabhiin unakii,
tum aakhon men samaan jaanaa
sako sikavaa n ho kahii
vafaa se ghar mahakaanaa
guladastaa ke rang sabhii
apanii adaao men sajaanaa
bananaa savaranaa unake liye
unake dil men bas jaanaa
tum pyaar kaa khudaa ban jaanaa


Links to this post