हम शिकवा भी करें, मोहब्बत की ज़बान में
उन्हें क्यों हमारे मोहब्बत से शिकायत है साकी

कभी हमारी तारीफ में, वों गजल लिखा करते थे
अब क्या लब्जों पर भी मंदी का असर है
साकी

पहले अक्सर मिल जाया करते थे वों हमसे
अब क्या किसी और शहर में उनका घर है
साकी

पैगाम ले आते थे कभी, उनके यार दोस्त भी
अब क्या तुझे किसी की खबर है
साकी

वों जो आये तेरे महफ़िल में, उन्हें कबूल न करना
अब तेरे हर जाम के, सिर्फ हम हकदार है
साकी


ham shikavaa bhii karen, mohabbat kii zabaan men
unhen kyon hamaare mohabbat se shikaayat hai saakii

kabhii hamaarii taariiph men, von gajal likhaa karate the
ab kyaa labjon par bhii mandii kaa asar hai saakii

pahale aksar mil jaayaa karate the von hamase
ab kyaa kisii aur shahar men unakaa ghar hai saaki

paigaam le aate the kabhii, unake yaar dost bhii
ab kyaa tujhe kisii kii khabar hai saaki

von jo aaye tere mahafil men, unhen kabul na karanaa
ab tere har jaam ke, sirph ham hakadaar hai saaki


Links to this post
जो सपनों से भी जाते थे इजाज़त ले कर
वों रुखसत--जहाँ हुए क्यों मुह फेर कर

jo sapno se bhi jate the ijazat le kar
vo rukhsat-e-jahan huye kyo muh fer kar


Links to this post
जला के दिल को हमारे
वों भी जल रहे होंगें
वों भी बेचैन रहेंगें
जब हम मर रहे होंगें

jala ke dil ko hamare,
vo bhi jal rahe honge,
vo bhi bechain rehenge,
jab hum mar rahe honge,



Links to this post
बेवफा आपको कह नहीं सकता
वफ़ा आपने किया ही कब था
जो समझा था मैं अब तक
वों मेरा ही भ्रम था |

bevafa aapko kah nahi sakta
vafa aapne kiya hi kab tha
jo samjha tha main ab tak
vo mera hibhram tha ...


Links to this post
दिल है मेरा, शीशा समझना
पत्थर मारो तो, पत्थर ही टूट जाते हैं
यह तोहफा भी तुम हसीनो का है
जो प्यार मे, दगा कर छोड़ जाते हैं

dil hai mera, shisha na samjhna
pathar maro to, pathar hi tut jaate hain
yah tohfa bhi tum hasino ka hai
jo pyar me, dga kar chod jaate hain


Links to this post
तुम मेरे दिल मे रहती हों
मै तुम्हारे दिल मे रहना चाहता हूँ
मुझे प्यार है तुमसे
बस यही कहना चाहता हूँ

tum mere dil me rahti ho
mai tumhare dil me rahna chahta hun
mujhe pyar hai tumse
bas yahi kahna chahta hun


Links to this post
जो तुम न मिली मुझे तो,
मैं मर जाऊंगा मौत आने से पहले |
पछताओगी तुम इस बात पे की,
हम बिछड़ गए मिल पाने से पहले |


jo tum n milii mujhe to,
main mar jaaoongaa mout aane se pahale |
pachhataaogii tum is baat pe kii,
ham bichhad gaye mil paane se pahale |


Links to this post
कभी हकीकत में रहते हैं
तो कभी ख्यालों में रहते हैं
जवाब जल्दी देना दोस्त
हम इसके इंतज़ार में रहते हैं

kabhii hakiikat men rahate hain
to kabhii khyaalon men rahate hain
javaab jaldii denaa ai dost
ham isake intazaar men rahate hain


Links to this post
ज़िन्दगी के कशमोकश मे पड़ी
बंद बोतल मे है खड़ी
वह है सबसे खुबसूरत
वफ़ा की मूरत, मेरी लाल परी

zindagi ke kashmokash me padi
band botal me hai khadi
vah hai sabse khubsurat
vafa ki murat, meri laal pari


Links to this post
कम-ज्यादा के वास्ते क्यों लड़ते हों
पैमाने शराब के नहीं होते पीने के लिए |
शाकी से पूछ लो मै सच कहता हूँ
ज़िन्दगी बहुत थोड़ी है जीने के लिए |

kam-jyada ke vaste kyo ladte ho
paimane sharaab ke nahi hote pine ke liye |
shaaki se puch lo mai sach kahta hun
zindagi bahut thodi hai jeene ke liye |


Links to this post
वों मोहब्बत करते रहे औरों की तरह
हमने मोहब्बत की अपने अंदाज़ से
देखों हमारी जान ले ली उन्होंने
अपने बढ़ते हुए नखरों-नाज़ से

vo mohabbat karte rehe auro ki tarah
hamne mohabbat ki apne andaaz se
dekhon hamaari jaan le li unhone
apne badhte huye nakharon-naaz se





Links to this post
बोतल मे मायका जले, पैमाने मे ससुराल |
यें कैसी दुल्हन हूँ मैं, यें कैसा है मेरा हाल |

botal me maayakaa jale, paimaane me sasuraal |
yen kaisii dulhan hoon main, yen kaisaa hai meraa haal |



Links to this post