बेवफा आपको कह नहीं सकता
वफ़ा आपने किया ही कब था
जो समझा था मैं अब तक
वों मेरा ही भ्रम था |

bevafa aapko kah nahi sakta
vafa aapne kiya hi kab tha
jo samjha tha main ab tak
vo mera hibhram tha ...


This entry was posted on 3:44 PM and is filed under . You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0 feed. You can leave a response, or trackback from your own site.

1 comments:

    संजय भास्कर said...

    जो समझा था मैं अब तक
    वों मेरा ही भ्रम था |

    इन पंक्तियों ने दिल छू लिया... बहुत सुंदर ....रचना....

  1. ... on February 13, 2010 at 4:41 AM